नया साल के कोरे कागज

नए साल के कोरे कागज का सच क्या है? पढ़िए इस पोस्ट में।

Advertisements

किसी के प्यार में इतना खुश होने की जरूरत नहीं है

पूरी बात कहने से पहले मुझे जोर की हँसी आ रही है। जिसे छिपाया नहीं जा सकता। वह मेरे आसपास गूंज रही हैं। इसे अगर शब्दों में व्यक्त करें तो, "हा हा हा" ही लिखा जा सकता है। इस मोहब्बत के नए सिलसिले से पहले मेरी दोस्त ने आगाह किया था कि बहुत ज्यादा खुश … Continue reading किसी के प्यार में इतना खुश होने की जरूरत नहीं है

दिनों के फेर में लम्हों की किरकिरी देखी…

दिनों का जश्न मनाने का फ़ैशन रोज़मर्रा की ज़िंदगी पर हावी होने लगा है। आज ये डे है। कल वो डे था। परसों फलां डे था। नरसों के रोज़ तो मैं भूल ही गया था कि कौन सा डे था। काफी सोचने के बाद याद आया कि किसी का बर्थ डे था। ख़ैर आज संडे … Continue reading दिनों के फेर में लम्हों की किरकिरी देखी…